कोरोना काल के इस हालात में भी भक्त जनों की उम्र रही है भीड़

108

वैसे कोरोना महामारी ने इस पावन त्योहार का उमंग तो कम कर ही दिया है फिर भी भक्तजन माता से कोरोनावायरस मुक्ति के लिए गुहार लगाते नजर आए।

सुपौल जिला स्थित सदर प्रखंड सुखपुर के, सार्वजनिक दुर्गा मंदिर, सुखपुर, बीते कई वर्षों से शारदीय नवरात्र मनाते आ रहे हैं। इस बार भी परम भव्यता और पवित्रता से नवरात्रि का आयोजन किया गया है। सुखपुर गाँव स्थित सार्वजनिक दुर्गा मंदिर के मान्यता अनुसार यहां आने वाले सभी भक्तों को माता दुर्गा के कृपा से आरोग्यता और सुख-शांति की प्राप्ति होती है।

आश्विन शुक्ल नवरात्रि के बारे में सार्वजनिक दुर्गा मंदिर, सुखपुर, के आचार्य पंडित श्री सुरेश झा ने बताते हुए कहा कि इस नवरात्रि माता दुर्गा के 9 दिनों में में नौ स्वरूप की पूजा की जाती है, जिनकी अपरंपार लीला है। यह देवी उपासना की महापूजा है।

समस्त जगत के कल्याणार्थ इससे बड़ा कोई शक्ति पूजा नहीं होता। उन्होंने कहा कि शारदीय नवरात्र का का अपना एक विशेष महत्व होता है, जिसमें प्रत्येक दिन भगवती के प्रत्येक सौम्य रूपों की पूजा की जाती है। श्री झा ने कहा कि नवरात्रि के अंतिम दिन भगवती की सिद्धिदात्री स्वरूप की पूजा होती है और भक्तों के सभी कार्य को सिद्ध करती हैं करती हैं।

रिपोर्टर — चंदन कुमार सुपौल