25 लाख कैश केस में फंस गए जेडीयू MLC दिनेश सिंह, आयकर ने दस दिन में मांगा पाई-पाई का हिसाब

127

पटना एयरपोर्ट पर 25 लाख रुपये कैश के साथ पकड़े गए जेडीयू एमएलसी दिनेश सिंह की मुश्किलें बढ़ गई हैं। इनकम टैक्स विभाग ने उनसे 10 दिन में जवाब मांगा है। दिनेश सिंह को बताना होगा कि इतना सारा कैश उनके पास कैसे आया और वे उसे फ्लाइट के जरिए दिल्ली से पटना क्यों लेकर आए। नियमों के मुताबिक फ्लाइट में 2 लाख रुपये से ज्यादा कैश ले जाने पर संबंधित अथॉरिटी से अनुमति लेनी होती है।

जानकारी के मुताबिक जेडीयू एमएलसी दिनेश सिंह मंगलवार को एक निजी एयरलाइंस के विमान में सवार होकर दिल्ली से पटना पहुंचे। पटना एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ अधिकारियों ने उन्हें 25 लाख कैश के साथ पकड़ा। इसके बाद आईटी विभाग को इसकी सूचना दी गई। पूछताछ में दिनेश सिंह ने बताया कि उन्होंने ये पैसा अपने दोस्तों और साथियों से लिया था। मगर जांच अधिकारियों को उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। बाद में उन्होंने कहा कि वे बीमार थे और इलाज के लिए दिल्ली गए थे।

दिल्ली से मिली थी टिप, पटना में पकड़ा

आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जेडीयू एमएलसी से पैसे का सोर्स बताने के लिए 10 दिन का समय दिया गया है। अगर वे इस अवधि में सही जवाब नहीं देते हैं, उनके खिलाफ जरूरी कार्रवाई की जाएगी। आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली की एक केंद्रीय एजेंसी से जेडीयू एमएलसी के भारी मात्रा में कैश ले जाने की टिप मिली थी। इ्सके बाद उन्हें पटना एयरपोर्ट पर डिटेन किया गया। आयकर टीम ने एमएलसी दिनेश सिंह से एयरपोर्ट पर पूछताछ के बाद कैश जब्त कर लिया और उन्हें जाने दिया।

दिनेश सिंह मुजफ्फरपुर में जेडीयू के बड़े नेता हैं। वे चार बार से एमएलसी हैं। उनकी पत्नी वीणा देवी लोजपा से सांसद हैं। दिनेश सिंह का कहना है कि जो कैश जब्त हुआ है वो उनका है। वे पैसे के स्रोत का पूरा स्पष्टीकरण देंगे। आयकर अधिकारियों ने उन्हें नोटिस भेजकर 10 दिन के भीतर जवाब देने के लिए कहा। समय से पहले जवाब दे दिया जाएगा।