बिहार के छात्रों और श्रमिकों लेकर आ रही स्पेशल ट्रेन, पटना में बनाए गए 99 क्वारंटाइन सेंटर

167

देश के विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर, तीर्थयात्री, पर्यटक, छात्रों एवं अन्य लोगों की प्रदेश में वापसी के बाद उन्हें 21 दिन क्वारंटाइन किया जाएगा. राज्‍यों में फंसे मजदूरों का अपने राज्‍यों के लिए आवागमन शुरू हो गया है. जयपुर सहित कई शहरों से बिहार के लिए ट्रेने रवाना हो चुकी है. वहीं, शनिवार से बिहार में मजदूरों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो जाएंगा. बिहार आने वाली पहली ट्रेन जयपुर से चलकर पटना के दानापुर स्टेशन पहुचेगी. वहां से सभी मजदूरो को ले जाने और क्‍वारंटाइन करने की पूरी व्‍यवस्‍था जिला प्रशासन ने की है. मजदूरों के लिए जिला प्रशासन ने पटना जिला में 99 क्‍वारंटाइन सेंटर तैयार किये है. सभी मजदूरों को यहां 21 दिन तक क्‍वारेंटीन किया जाएगा. पटना सदर की बात करें तो 7 क्वारंटाइन सेंटर बनाये गए है. जिनमें गर्दनीबाग बालिका उच्च विद्यालय, गर्दनीबाग बालक उच्च विद्यालय, कमल नेहरू उच्च विद्यालय, कॉमर्स कॉलेज पटना, बांकीपुर गर्ल्स स्कूल पटना और राजेन्द्र नगर बालक उच्च विद्यालय में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर शामिल हैं.