नागरिकता बिल के खिलाफ आक्रोश, बंगाल से असम तक बवाल

126
Citizenship Bill
Citizenship Bill

लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया है हालांकि इस बिल का असम में बहुत ही तेजी से विरोध हो रहा है।

नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन (NESO) और ऑल असम स्टेट यूनियन ने आज सुबह 5:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक का बंदी का ऐलान किया है ।

इसका कारण है कि NESO को कई संगठनों और राजनीतिक दलों का समर्थन मिल रहा है जिस वजह से 12 घंटे की बंदी का ऐलान किया है।

इस मंदी की वजह से गुवाहाटी, डिब्रूगढ़ कॉटन और यूनिवर्सिटी की परीक्षा रद्द कर दी गई है ।

पूर्वोत्तर के निवासियों का कहना है कि बाहर से आकर नागरिकता लेने वाले लोगों से उनकी पहचान और आजीविका को खतरा है ।

असम स्टूडेंट यूनियन और अन्य संगठन के विधायक विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं ।

स्टूडेंट यूनियन के कार्यकर्ता ने शिव सागर की सड़कों पर नंगा होकर के विरोध प्रदर्शन किया हालांकि वहां के पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को हिरासत में ले लिया है।

वही नलबाड़ी नगर में असम गण परिषद के तीन मंत्रियों के खिलाफ विभिन्न स्थानों पर पोस्टर चिपकाए गए

असम के साथ-साथ सम के साथ-साथ त्रिपुरा में भी नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है।

जिसके चलते त्रिपुरा ट्राइबल एरिया ऑटोनॉमस डिस्टिक काउंसिल के क्षेत्र में जनजीवन प्रभावित रहा और इसकी वजह से त्रिपुरा में सड़क और रेल यातायात बुरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं और लाखों यात्री बीच रास्ते में ही फंसे रहे।

बंदी को लेकर महाराजा विक्रम वीर विक्रम सिंह विश्वविद्यालय और त्रिपुरा यूनिवर्सिटी दोनों ही विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है।