महनार का लाल मोहम्मद शादाब बना सीए, मुबारकबाद का सिलसिला जारी

70

वैशाली/जिले के महनार बाजार स्थित बाबू मोहल्ला बाशिंदा मोहम्मद शमीम के छोटे बेटे मोहम्मद शादाब सीए बन अपने खानदान के साथ महनार का नाम रोशन किया है।पेशे से सिलाई करने वाले मोहम्मद हासिम इदरीसी व जमीला खातून के छोटे पोते मोहम्मद शादाब ने सीए परीक्षा मे सफलता हासिल कर इतिहास रचा है।

पटना मे रहकर पढाई की और कठिन परिश्चम से यह सफलता हासिल की।मोहम्मद शादाब ने बताया कि मैट्रिक की परीक्षा 2011 मे पास किया।2013 मे इंटर की परीक्षा काँमर्स विषय से पास करने के बाद सीए की पढाई के लिए दिसंबर 2013 मे ही सीपीटी पास किया।इसके बाद आर्टिकल सीप 2021 मे कंप्लीट किया।सीए की पढाई की शुरुआत सीए एम पी यादव सर के यहां से किया और फिर सीए,प्रवीण शर्मा, सीए सःजय सर्राफा, पंकज गर्ग,अतुल अग्रवाल और सीए प्रतीक जगाती सर से पढाई की।

10 फरवरी को सीए परीक्षा परिणाम घोषित किया गया।जिसमें पास हो गया।मोहम्मद शादाब के सफलता से पूरे परिवार मे खुशी का माहौल है।वही इस सफलता से महनार के बाबू मोहल्ला मे भी खुशी का माहौल है।इस मोहल्ला मे यह पहला सीए बना है।शादाब के अब्बू मोहम्मद शमीम महनार बाजा के प्यासा गली मे शमीम टेलर नाम की सिलाई दूकान चलाते हूए बेटे की पढाई मे कभी भी कोई कमी नही होने दी।वही शादाब की अम्मी अस्मत आरा घरेलू औरत होते हूए भी बेटे को हमेशा पढाई के लिए प्रेरित करती रही।नतीजे मे बेटे ने सीए बन कर मां बाप के ख्वाब को पूरा कर आंखों मे खुशियों का सैलाब ला दिया।बेटे की कामयाबी पर मां बाप दोनो खुश है।

शादाब ने विशेष तौर पर मीडिया से बात करते हूए कहा कि यह कामयाबी मेरे माँ,बाप,दादा, दादी और सभी रिस्तेदार की दुआओं के कारण मिली है।

सीए बनने के बाद मोहम्मद शादाब को मुबारकबाद देने वालो मे बड़ा भाई इंजीनियर मोहम्मद महताब आलम,बड़े अब्बू मोहम्मद अमजद अली इदरीसी, पूर्व वार्ड पार्षद, चाचा मोहम्मद नसीम,मोहम्मद शौकत, डाँक्टर मोहम्मद हैदर अली, मोहम्मद शकील, मोहम्मद जुम्मन, मोहम्मद साबिर,फूफू ताहिरा खातुन,सायरा खातून,शहनाज खातून, जाहिदा खातून पटना, फूफा मोहम्मद मुस्तकीम, मोहम्मद शोएब आलम,आलम मोहम्मद, मोहम्मद मुमताज पटना, भाई डाँक्टर मोहम्मद परवेज आलम,डाँक्टर मोहम्मद रूदल,मोहम्मद मनौवर,मोहम्मद वसीम,मोहम्मद मेराज,मोहम्मद सेराज,मोहम्मद दानिश,मोहम्मद अमन,आदि लोगो ने मुहम्मद शादाब से मिलने आये एवं सहानभूति प्रदान किएं

संवाददाता:-राजेन्द्र कुमार