किसान सलाहकार के हड़ताल का खरीफ महोत्सव में दिखा असर।

501



आज दिनांक 07/06/ 2023 दिन बुधवार को ई किसान भवन गायघाट के सभागार में खरीफ महाअभियान की औपचारिकता पूरी की गई। सभी किसान सलाहकार अपनी मांगों को लेकर चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करते आ रहे थे। सरकार द्वारा कोई सकारात्मक पहल नहीं होने के उपरांत अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। किसान सलाहकार की हड़ताल के कारण महोत्सव में किसान नहीं पहुंचे। वही कार्यक्रम में पहुंचे जिला के पदाधिकारियों को किसान का इंतजार में घंटा रुकना पड़ा पौधा संरक्षक उपनिदेशक राधेश्याम गुप्ता अनुमंडल कृषि पदाधिकारी पूर्वी शांतनु कुमार अनुमंडल कृषि पदाधिकारी पश्चिमी विकास कुमार प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजीत कुमार आनन-फानन में प्रखंड के सभी उर्वरक विक्रेता व एफसीआई के मजदूर प्रखंड परिसर में अन्य कार्य से आए हुए व्यक्ति को जबरन महोत्सव में बैठाया गया। वैसे मजदूर वह व्यक्ति को खरीफ मौसम की फसल के बारे में जानकारी दी गई जिन्हें खेती से कोई लेना देना नहीं है। मजदूर को महोत्सव में लाने के लिए चाय नाश्ता ठंडा मिलने का प्रलोभन देकर जबरन बैठाया गया और फोटोग्राफी किया गया प्रदेश किसान सलाहकार संघ के द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाती तब तक उनका हड़ताल जारी रहेगा उनकी 1 सूत्री मांग जनसेवक पद पर समायोजन तदनुसार वेतन भुगतान की मांग की गई है किसान सलाहकार हड़ताल पर जाने का असर दिखना शुरू हो चुका है। बीज वितरण का कार्य ठप पड़ा हुआ है प्रधानमंत्री ईकेवाईसी का कार्य नहीं हो रहा है मिट्टी जांच का कार्य बाधित है।