उमेश कुशवाहा बने JDU के प्रदेश अध्यक्ष, बशिष्ठ नारायण सिंह ने स्वास्थ्य कारणों से दिया इस्तीफा

45

जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद उमेश कुशवाहा को पार्टी का नया बिहार अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, रविवार को बशिष्ठ नारायण सिंह ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद उमेश कुशवाहा के नाम का प्रस्ताव रखा गया, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया है। बता दें कि पटना में जदयू की राज्य परिषद की बैठक चल रही है, जिसका आज दूसरा दिन है।

मनहार से विधायक रह चुके हैं उमेश कुशवाहा

उमेश कुशवाहा वैशाली जिले की मनहार विधानसभा सीट से 2015 से 2020 के बीच विधायक रह चुके हैं। हालांकि 2020 के चुनाव में राजद की वीना देवी से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उमेश कुशवाहा कि पढ़ाई लिखाई आचार्य नरेंद्र देव कॉलेज, शाहपुर पटोरी से हुई है। राजनीति के अलावा उमेश कुशवाहा व्यापार भी करते हैं।

हाल ही में आरसीपी सिंह बने हैं राष्ट्रीय अध्यक्ष

हाल के दिनों में जदयू में कई बदलाव देखने को मिले हैं। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में नीतीश कुमार ने जदयू अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद पार्टी की जिम्मेदारी नीतीश कुमार के विश्वस्त आरसीपी सिंह को दी गई थी। ऐसी चर्चा थी कि राज्य परिषद की बैठक में बशिष्ठ नारायण सिंह भी बढ़ती उम्र और स्वास्थ्य कारणों के चलते जदयू अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देंगे और राम सेवक सिंह कुशवाहा को अध्यक्ष बनाया जाएगा। हालांकि बैठक के दौरान अंत समय में फैसला बदल गया और उमेश कुशवाहा को बिहार जदयू की कमान सौंप दी गई।

इससे पहले शनिवार को राज्य परिषद की बैठक में नीतीश कुमार ने 2020 के विधानसभा सीट में कम हुई सीटों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी। साथ ही कार्यकर्ताओं और नेताओं से अपील की कि हार को भूलकर काम करने में लग जाएं। सीएम नीतीश ने यह भी कहा कि यह सरकार पूरे पांच साल चलेगी। कम सीटों पर मिली जीत का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अगर सीट शेयरिंग पर फैसला जल्दी हो गया होता तो ऐसा नहीं होता। सीट शेयरिंग में चार-पांच महीने की देरी हुई, जिस कारण हमें नुकसान हुआ।