मीनापुर अहियापुर समेत चार थानेदार को किया गया सस्पेंड

129

नीतीश कुमार के निर्देश के बाद बिहार पुलिस एक्शन में आ गई है। शराब का धंधा रोकने में नाकाम रहने वाले चार थानेदारों पर गाज गिरी है। बिहार पुलिस मुख्यालय ने चार थानेदारों को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है।

किन किन थानों के थानेदार सस्पेंड
बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने जिन चार थानेदारों को सस्पेंड किया है. उसमें पटना के कंकड़बाग, वैशाली के गंगाब्रिज, मुजफ्फरपुर के अहियापुर और मीनापुर के थानेदार शामिल हैं।

कंकड़बाग के थानेदार सस्पेंड  
बताया जा रहा है कि 25 नवम्बर को कंकड़बाग थाना क्षेत्र मद्यनिषेध की टीम द्वारा अशोक नगर से शराब की बरामदगी हुई थी। इससे पहले भी अशोक नगर में कई बार शराब बरामद हुआ था। इसे गंभीरता से लेते हुए डीजीपी ने कंकड़बाग के थानेदार अजय कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया।

मीनापुर के थानेदार निलंबित
मुजफ्फारपुर के मीनापुर के थानेदार पर भी गाज गिरी है। मीनापुर थाना क्षेत्र में 2 नवम्बर को विधानसभा चुनाव के दौरान शराब और नोट बांटते वीडियो वायरल हुआ था। इसकी जांच पुलिस मुख्यालय द्वारा कराई गई। जांच में ये बात सामने आई की मोहनपुर में लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार के पक्ष में मतदान के लिए खानेजादपुर निवासी सुबोध कौशिक द्वारा शराब और रुपया बांटा जा रहा था। थानेदार ने मौके पर पहुंचकर गाड़ी की डिक्की से 9 बोतल शराब और पैसे के लेनदेन से जुड़े कागज बरामद किए। थानेदार ने गिरफ्तार अभियुक्त को सरकारी गाड़ी में बैठाने की जगह उसकी ही गाड़ी, जिसे वो खुद चला रहा था, थाने ले जाने लगे। रास्ते में समर्थकों ने सुबोध कौशिक को पुलिस के कब्जे से छुड़ा लिया। जांच रिपोर्ट के आधार पर थानेदार अविनाश चंद्र को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

अहियापुर का थानेदार सस्पेंड
मुजफ्फरपुर जिला के अहियापुर थाना के थानेदार को भी सस्पेंड कर दिया गया है. 25 नवम्बर को अहियापुर के मुरादपुर भरत में मुकेश कुमार के घर छापेमारी में शराब के अलग अलग ब्रांड के रैपर, बोतल का ढक्कन, खाली बोतल के अलावा गहरा चौक से विदेशी शराब बरामद हुई थी। थाना क्षेत्र में शराब फैक्ट्री और शराब की ब्रिकी को थानेदार दिनेश कुमार की विफलता मानते हुए निलंबित कर दिया गया है। चारों पुलिस अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है।

गंगाबिज्र के थानेदार पर गाज
दूसरी घटना गंगाब्रिज थाना की है। 25 नवम्बर को ही पुलिस की मद्यनिषेध टीम ने दीवान टोक स्थित तालाब के पास से चलाए जा रहे शराब भट्ठी को ध्वस्त किया था। वहीं सरायपुर निवासी को स्प्रीट के साथ पकड़ा गया था। शराबबंदी के बावजूद इसका धंधा होने को थानेदार की विफलता मानते हुए डीजीपी के आदेश पर गंगाब्रिज के थानेदार पंकज कुमार संतोष को भी निलंबित कर दिया है