सरैया प्रखंड अंतर्गत बघनगरी में संत रविदास जयंती पर भव्य उत्सव रैली निकला गया।

22

सरैया प्रखंड अंतर्गत बघनगरी में संत रविदास जयंती पर भव्य उत्सव रैली निकला गया। हिंदू पंचांग के अनुसार, माघ पूर्णिमा के दिन ही रविदास जयंती मनाई जाती है। संत रविदास की गिनती महान संतों में होती है। संत रविदास बहुत ही सरल हृदय के थे और दुनिया का आडंबर छोड़कर हृदय की पवित्रता पर बल देते थे।

इस बारे में उनकी एक कहावत – “जो मन चंगा तो कठौती में गंगा” यानी यदि आपका मन पवित्र है तो यहीं गंगा है। काफी प्रचलित है।

संत रविदास जात-पात के विरोधी थे। पढ़ें उनका ये दोहा-
“जाति-जाति में जाति हैं, जो केतन के पात,
रैदास मनुष ना जुड़ सके जब तक जाति न जात।”

मौके पर मौजूद
स्थानीय भावी उम्मीदवार उदय कुमार तिवारी, मनोज चौधरी आदि लोग मौजूद रहे।

समवादाता-दिपक कुमार निषाद