मृत पत्नी के स्थान पर दूसरी पत्नी के स्थान पर दूसरी पत्नी को शिक्षिका बनाने का मामला प्रकाश में आया

254

जंदाहा प्रखंड एवम टीसीओता थाना क्षेत्र के बिजरौली निवासी द्वारा मृत पहली पत्नी के स्थान पर दूसरी पत्नी को शिक्षिका के पद पर गलत एवम फर्जी तरीके से शिक्षिका के पद नियोजन कराने का मामला प्रकाश में आया है इस संबंध में बगलगीर बिजरौली निवासी राजन कुमार पिता नंद कुमार चौधरी जो स्वतंत्रता सेनानी स्व शिव नंदन चौधरी के पौत्र है ने कई आला अधिकारियों को आवेदन देकर अवगत कराते हुए उचित करवाई की मांग की है.दिए गयेअवेदन में राजन कुमार दर्शाया है कि मेरे बगलगीर शंकर चौधरी की पहली शादी रंजू कुमारी पिता स्व जनार्धन सिंह ग्राम सोहरथी थाना जंदाहा के साथ हुई थी जिसकी मृत्यु खाना बनाने के क्रम में 2002 में हो गई थी टीचर ट्रेनिग की हुई थी .शंकर चौधरी दूसरी शादी गीता कुमारी पिता स्व पवन ठाकुर ग्राम गोरिगमा पटोरी समस्तीपुर के साथ किये शंकर चौधरी ने मृत पत्नी रंजू देवी के सर्टिफिकेट पर दूसरी पत्नी को जंदाहा प्रमुख और मुखिया को मेल में लेकर 2007 में गीता देवी को रंजू देवी बनाकर शिक्षिका के पद पर नियोजन जीपीएस पिरापुर पोखरा स्कूल में करा लिया जो बिल्कुल फर्जी है.राजन कुमार जिलापदधिकारी एवम उच्चाधिकारियो को आवेदन देकर उच्च स्तरीय जांच की मांग की है.जिलाधिकारी के आदेश पर अंचलाधिकारी जांच में गए किंतु जांच को दबा दिए.स्वतंत्रता सेनानी के पौत्र राजन कुमार ने सरकार के अपर सचिव राजेन्द्र राम द्वारा 2016 में सभी जिला पदाधिकारी पत्र निर्गत किये थे जिसमें सामान्य प्रशासन विभाग के संकल्प संख्या ज्ञापक 13185में बताया कि बिहार राज्य के वैसे स्वतंत्रता सेनानी जिन्हें केंद्र सरकार द्वारा पेंशन स्वीकृत है के दो पीढ़ी तक यथा पुत्र व उसकी पत्नी पोता पोती नाती नतनी को परिचय पत्र जारी करने का निर्देश पूर्व में दिया जा चुका है जिससे उसे सरकारी नौकरी में दो प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण प्रदान करने की व्यवस्था की गई है

संवाददाता-राजेन्द्र कुमार वैशाली