मंत्री समाज कल्याण विभाग ने चयनित महिला पर्यवेक्षिकाओं को किया सम्मानित

11
Minister Social Welfare Department honored the selected women supervisors

मंत्री समाज कल्याण विभाग, बिहार के द्वारा समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित कार्यक्रम में नव चयनित महिला पर्यवेक्षिकाओं को चयन पत्र प्रदान किया गया

मुजफ्फरपुर | उक्त चयन पत्र वितरण कार्यक्रम आईसीडीएस मुजफ्फरपुर के तत्वाधान में समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित किया गया। मालूम हो कि जिले में महिला पर्यवेक्षिका का 197 पद स्वीकृत है जिसके विरुद्ध 102 कार्यरत हैं। इस बार 40 पदों पर चयन के विरुद्ध 39 अभ्यर्थियों का चयन किया गया जिस में आज कार्यक्रम में कुल 36 अभ्यर्थियों को चयन पत्र वितरित किया गया। इस संबंध में कुल 25000 आवेदन प्राप्त हुए थे जिसमें अंतिम रूप से 39 अभ्यर्थियों का चयन महिला पर्यवेक्षिका के पद पर किया गया

कार्यक्रम में उपस्थित माननीय मंत्री ने नवनियुक्त महिला पर्यवेक्षिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप पूरी प्रतिबद्धता और मनोयोग के साथ कार्य करें। सरकार द्वारा दिए गए दायित्वों का निर्वहन पूरी इमानदारी पूर्वक और पारदर्शिता के साथ करें। सरकार एवं विभाग की अपेक्षाओं के साथ जनता की अपेक्षाओं पर भी खरा उतरे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा आपको महती जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसके निर्वहन के क्रम में पूरी पारदर्शिता एवं कार्य के प्रति लगन दृष्टिगोचर होना चाहिए।

वही कार्यक्रम में उपस्थित जिलाधिकारी मुजफ्फर ने अपने संबोधन में कहा कि निरीक्षी पदाधिकारी के रूप में आप अपने कार्य/ जिम्मेदारियों का निर्वहन पूरी प्रतिबद्धता के साथ करें। आप अपने कार्य को महत्व देंगे।उन्होंने कहा कि बच्चे देश के नौनिहाल होते हैं बच्चा स्वस्थ है तो देश का भी अपेक्षित विकास होता है। ऐसे में बच्चों के सार्वभौमिक विकास में आप की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि सभी नवनियुक्त महिला पर्यवेक्षिका अपने कार्यों एवं दायित्वों का निर्वहन पूरे ईमानदारी के साथ ,समेकित एवं मनोयोग के साथ करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी नवनियुक्त महिला पर्यवेक्षिकाओं का संस्थागत प्रशिक्षण एक सप्ताह का जिला स्तर पर दिया जाएगा।

वही कार्यक्रम में उपस्थित उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी ने अपने संबोधन में कहा कि एक तरफ जहां समाज के नौनिहालों के भविष्य के निर्धारण में आप की अहम भूमिका होगी वही बच्चों के प्रति प्रेम और कार्य के प्रति जुनून एवं लगन होना भी उतना ही जरूरी होगा। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों का पर्यवेक्षण के साथ-साथ अपना आत्म पर्यवेक्षण भी करेंगे। साथ ही कार्यों में एवं दायित्वों के निर्वहन में पारदर्शिता सुनिश्चित होनी चाहिए।

इसके पूर्व आईसीडीएस डीपीओ चांदनी सिंह के द्वारा नवनियुक्त महिला पर्यवेक्षिकाओ के कार्य एवं दायित्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही उनके द्वारा संपूर्ण चयन प्रक्रिया का चरण वार विश्लेषण एवं जानकारी उपलब्ध कराई गई। उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में सिर्फ तीन ही जिले :-औरंगाबाद शिवहर और मुजफ्फरपुर में महिला पर्यवेक्षिकाओं का चयन अंतिम रूप से हो पाया है।

कार्यक्रम में जिला जन-संपर्क अधिकारी कमल सिंह एवं जिला लेखा पदाधिकारी वैसुर रहमान अंसारी भी उपस्थित थे। कार्यक्रम में मंच संचालन का कार्य सीडीपीओ मुसहरी, ग्रामीण मंजू सिंह ने किया

Reported By Sajjan | Muzaffarpur