पुलिस जब गस्ती मे निकलती है तो पुलिस की गाड़ी बन जाती ठेलनमा

94

वैशाली-राजापाकर थाना के बराँटी ओपी अध्यक्ष जब अपने क्षेत्र मे गस्ती मे जाते है तो उनकी गस्ती गाड़ी ठेलनमा बनकर रह जाती है।अब सरकार से सबाल उठना लाजिमी है कि ऐसी स्थिति मे पुलिस शराब माफिया या कोई अपराधी को गिरफ्तार करने के लिए जाता है।और बीच रास्ते मे गाड़ी ठेलनमा बन जाती है तो वैसे स्थिति मे अपराधी पुलिस पर हमला भी कर सकता है।

सरकार कहती है कि पुलिस को आधुनिक हथियार, अच्छी गाड़ी दिया जाएगा।लेकिन ऐसा कहा होता है।बीच रास्ते मे गाड़ीखराब हो जाती है।मजबूरन पुलिस जवान को गाड़ी ठेलकर एसटाट करना पड़ता है।पुलिस के जवान हाफ जाते है।पुलिस के जवान को स्थानीय लोगो का सहारा लेना पड़ता है।काफी मशक्कत के बाद तब गाड़ी एसटाट होता है।तब तक शराब माफिया या अपराधी भाग जाते होगे।पुलिस महकमे इस पुराने गाड़ी से परेशान रहते है।

परेशान होना लाजमी है कि पुलिस रात भर अपने थाना क्षेत्र मे गस्ती करना पड़ता है।अगर वैसी स्थिति मे गाड़ी ठेलनमा बन जाती है तो उस समय पुलिस को कितना मुशीबत झेलना पड़ता होगा।बराँटी ओपी क्षेत्र के लोगो का कहना है कि बराँटी ओपी थाना को न्ई गाड़ी की आवश्यकता है।ऐसी पुराने गाड़ी से पुलिस को कठिनाइयों कि सामना करना पड़ता है।

थाना को गस्ती करने के लिए सरकार को न्ई गाड़ी मुहैय्या करना चाहिए था।अगर पुलिस गस्ती के लिए अपने क्षेत्र मे निकलता है और गाड़ी खराब हो जाता है।तो उस समय पुलिस बल पर कुछ भी हो सकता है।ऐसे लोगों का कहना है कि बराँटी ओपी थाना को जल्द से जल्द सरकार नया गाड़ी उपलब्ध कराये ताकि पुलिस प्रशासन को रात हो या दिन जनता का सुरक्षा ढ़ग से करे।

संवाददाता-राजेन्द्र कुमार।