मैं एक क्षत्राणी हूं। सर कटा सकती हूं, लेकिन सर झुका सकती नहीं: कंगना रनौत

161
Kangana Ranaut

आजकल सोशल मीडिया से लेकर न्यूज़ चैनल तक कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच मानो जैसे होड़ लगी है।

लगातार कंगना रनौत ट्विटर पर सक्रिय हैं और कुछ ना कुछ ट्वीट आते जा रहे हैं, और बहुत से लोग उनका समर्थन भी करते हैं। लेकिन इसके साथ साथ ऐसे भी बहुत लोग हैं जो कंगना रनौत को किसी न किसी माध्यम से नीचे दिखाने की लगातार कोशिश कर रहे हैं।

आज फिर कंगना रनौत ने एक ट्वीट किया है जिसके नीचे हजारों में रिट्वीट किया जा रहा है। कोई सपोर्ट में लिख रहा है तो कोई विरोध में।

कंगना रनौत लिखती है “मैं एक क्षत्राणी हूं। सर कटा सकती हूं, लेकिन सर झुका सकती नहीं! राष्ट्र के सम्मान के लिए हमेशा आवाज़ बुलंद करती रहूंगी। मान, सम्मान, स्वाभिमान के साथ जी हूं और गर्व से राष्ट्रवादी बनकर जीती रहूंगी! सिद्धांत के साथ नहीं कभी समझौता की हूं नहीं कभी करूंगी! जय हिंद ।

इसके जवाब में एक यूज़र लिखते हैं “झांसे की रानी’ कह रही हैं कि क्षत्राणी हूं, इसलिए सर कटा सकती हूं लेकिन सर झुका नहीं सकती. तो डियर क्षत्राणी साहिबा आपको मैं बता दूं कि जिस पार्टी के लिए आप बैटिंग कर रही हैं उनमें बहुत बड़े-बड़े ‘माफीवीर’ हुए हैं. आपको राजपूत होने का इतना ही घमंड है तो उनका इतिहास भी पढ़ लो!

वही एक मेजर और रिप्लाई करते हैं की “दीदी, मणिकर्णिका कि शूटिंग कबकी ख़तम हो गई।
करैक्टर से बाहर निकलो।

वही एक यूज़र एक फोटो के साथ लिखते हैं “ये कैसा सम्मान बचा रही थी कपड़े उतार कर?

एक ही यूजर रिट्वीट करते हैं “आप जातीय मानसिकता से ग्रसीत है, पहले आप निकल जाए फिर बात कीजियेगा। आप पहले आरक्षण पर हमला करतें हैं, जाति का कोई अस्तित्व ही नहीं है कि लोगों को पाठ पढ़ा रहे थे अब जाति अंदर से कैसे निकल रहा है।
नकली घोड़ा पर सवारी करने से कोई झाँसी की रानी नहीं बन सकती उसके लिए तप करना पड़ता है।”

वही एक यूजर एक वीडियो को शेयर करते हुए लिखते हैं: “यह है एक क्षत्राणी!
जो अपना सर कटा रहीं हैं, क्योंकि कभी झुका नहीं सकती। साथ ही राष्ट्र के सम्मान में आवाज बुलन्द कर रहीं हैं, और मान, सम्मान, स्वभिमान के साथ जीती हुई नजर आ रहीं है, और मुझे आशा औऱ पूर्ण विश्वास है कि इस सिद्धांत के साथ हमेशा इसी तरह जीती रहेंगी!
जय संविधान!