शराब तस्कर कभी तालाब,कभी कब्रिस्तान, बिहार मे शराब तस्करी के ऐसे जुगाड़ देख कर हैरान हो जाएंगे

43

वैशाली/महुआ बिहार मे शराब बंदी पूर्ण रूप से लागु है फिर भी शराब तस्कर अपनी हरकत से बाज नही आते है।लेकिन शराब माफियाओं ऐसे ऐसे तरीके से शराब का कारोबार कर रहे है।बिहार के वैशाली जिले के महुआ हरपुर से एक्साईज विभाग की टीम ने सक के आधार पर तालाब से बड़ी मे शराब बरामद की है।इ़मपेरियर बोलु Brad for sal in punjab 150Little,FL,हरपुर महुआ वार्ड नंबर 15 के पोखरा के पास से।सुशासन बाबु का कहना है कि मेरे सर्वे के अनुसार लोगो ने काफी संख्या मे शराब के सेवन से छुटकारा हूए है।मेरा सवाल है कि आखिर हर दिन कही न कही शराब की खेप आते रहते है और पकड़ाते है।इतना शराब आखिर कौन पी जाता है।क्या भैस पी जाता है या जानवर भी शराब का सेवन करता है क्या?दूसरे राज्य से जो शराब बिहार मे आता रहता है।और बिहार मे देशी शराब का कारोबार हो रहा है।सब तो आदमी ही पीकर खत्म करता है।फिर कैसा सर्वे कि लोग शराब पीना छोड़ दिए है।कुछ महीना पहले कोई दियाया क्षेत्र मे ड्रेन से पता चला कि वहाँ देशी शराब बनाया जा रहा है।तब उत्पाद विभाग जाकर उसे नष्ट किया जो हजारो लिटर देशी शराब को नष्ट किया गया था।जो शराब प्रशासन के नजर मे दिखाई दिया तो उसे जप्त कर लिया गया।जो शराब तस्कर नही पकड़ाया वह शराब कही पर सेल कर दिया जाता है।आखिर वह शराब तो मनुष्य ही पीकर पचाता है।जानवर तो नही पी जाता होगा।

संवाददाता-राजेन्द्र कुमार।