महनार में एक बार फिर स्वास्थ्य सेवा का खुला पोल…

150

वैशाली: एक ओर जंहा पूरे देश मे कोरोना का ख़ौफ़ जारी है ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के साथ जिला प्रशासन भी पूरी तरह अलर्ट है वही बात करे वैशाली जिले के महनार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की जंहा कोरोना महामारी को लेकर पिछले दो महीने से अधिक समय मे ओपीडी सेवाएं ठप है।

ऐसे में स्वास्थ्य केंद्र में फिलहाल किसी भी तरह की कोई इलाज नही किया जा रहा स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए आये मरीजो को ये कहकर भगा दिया जा रहा कि अभी सिर्फ कोरोना की जाँच की जा रही है। लेकिन वही बात करे महनार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की जो कोरोना वायरस को लेकर कितना सजग है इसका जीता जागता नमूना देखने को मिला शनिवार को।

दरसअल आपको पूरी बात बताते है कि महनार बाजार इस्थित बालक उच्च विद्यालय में प्रवासी मजदूरो के लिए क्वारन्टाइन केंद्र बनाया गया है जंहा प्रवासी रह रहे है जंहा शनिवार की दोपहर तेज बुखार के साथ अचानक एक प्रवासी की तबीयत खराव हो गई जिससे वंहा अफरा तफरी का महौल हो गया।

वही केंद्र में तैनात कर्मी ने तत्काल इसकी सूचना सीएचसी को दिया लेकिन हद तो तब हो गई जब घंटो बीत जाने के बाद भी कोरोना की डर से स्वास्थ्य केंद्र से किसी भी तरह की कोई चिकित्सा उपलब्ध नही कराया गया। इस संबंध में केंद्र में तैनात कैम्प प्रभारी राकेश कुमार ने बताया कि शनिवार की दोपहर क्वारन्टाइन केंद्र में मुम्बई से आया एक युवक का तबियत अचानक तेज बुखार के साथ बिगड़ने लगा जिसके बाद तुरंत इसकी सूचना स्वास्थ्य केंद्र को दिया और खुद केंद्र में जाकर भी बीमार होने की बात बताया तथा इसके बारे में महनार के सभी अधिकारी को इसकी सूचना दिया गया लेकिन कोई सुनने को तैयार नही हुआ। जिसके बाद लगभग 7 घंटे से अधिक समय के बाद देर रात हाजीपुर से आई मेडिकल की टीम ने संदिग्ध को इलाज के लिए हाजीपुर ले गई।